Sitamadhi: बिहार के सीतामढ़ी जिला स्थित भारत नेपाल सीमा के अंतरराष्ट्रीय बॉडर पर अचानक नेपाली सेना द्वारा की गई फायरिंग से पूरा प्रशासनिक अधिकारी समेत पूरा सकते में आ गया है. घटना सोनबरसा थाना क्षेत्र के पिपरा परसाइन पंचायत अंतर्गत आने वाले लालबन्दी स्थित जानकी नगर बॉडर की है. जहाँ खेत में काम करने गए मजदूरो पर पर अचानक नेपाल के शस्त्र पुलिस ने अंधाधुंध गोलियां  बरसा दी है। 

घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। वही  दो लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए है। जख्मियों को इलाज के लिए शहर के लाया जा रहा है। इधर स्थानीय लोगों ने बताया कि एक भारतीय नागरिक को नेपाली सेना ने आपने कब्जे में ले रखा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नेपाली सेना के गोली बारी में जानकी नगर टोले लालबन्दी निवासी नागेश्वर राय के 25 वर्षीय पुत्र डिकेश कुमार की मौत हो गई है। जबकि बिनोद राम के पुत्र उमेश राम के दाहिने बांह में गोली लगी है। जबकि सहोरबा निवासी बिंदेश्वर ठाकुर के पुत्र उदय ठाकुर को दाएं जांघ में गोली लगी है। दोनो जख्मियों को इलाज के लिये सीतामढ़ी रेफर  किया गया। वही नेपाली पुलिस ने  गांव के  वशिस्ट राय के पुत्र लगन राय को अपने कब्जे में रखा है। अब उन्हें गोली लगी है अथवा नहीं इसकी जानकारी नहीं। फिलहाल बॉडर पर भारतीय एसएसबी और स्थानीय पुलिस लालबन्दी दोनो बॉडर पर डटी हुई है। तो वही नारायणपुर बॉर्डर पर नेपाली सेना ने अपना डेरा डाले हुए है। शुक्रवार की घटना के बाद एक खबर शनिवार को आई कि

भारत और नेपाल के अधिकारियों के बीच बातचीत के बाद शनिवार को नेपाल पुलिस ने लगन को छोड़ दिया।

भारत आकर लगन ने शुक्रवार को हुई घटना के बारे में बताया। लगन ने कहा कि नेपाल की पुलिस मुझे उठाकर संग्रामपुर ले गई। मुझे राइफल की बट से मारा गया। यह कबूलने के लिए दबाव बनाया कि पुलिस ने मुझे नेपाल में पकड़ा। जबकि सच्चाई यह है कि पुलिस मुझे भारत से उठाकर ले गई थी।


इन्हीं जवानों ने बॉर्डर पार से फायरिंग की, जिसमें एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई।नेपाल पुलिस की पिटाई से लगन राय की पीठ पर बने निशान।

नेपाल पुलिस की मार के बाद लगन के पीठ पर बने निशान

यह है मामला
नेपाल की तरफ से शुक्रवार को सोनबरसा के जानकी नगर स्थित बॉर्डर पर फायरिंग हुई थी। इसमें एक युवक की मौत हो गई। तीन घायल हुए। दो लोगों की हालत गंभीर बताई गई है। जानकीनगर बिहार के सीतामढ़ी जिले में आता है। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के डीजी कुमार राजेश चंद्रा ने कहा था- यह आपसी विवाद का मामला है। रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेज दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here