Saturday, May 1, 2021
Home जॉब्स आइये मिलकर बढ़ती_बेरोज़गारी के कारणों पर एक नज़र डालें… उसके बाद फ़ैसला...

आइये मिलकर बढ़ती_बेरोज़गारी के कारणों पर एक नज़र डालें… उसके बाद फ़ैसला करेंगे की बेरोजगारी के लिए कौन जिम्मेदार है सरकार या ये युवा वर्ग ?

आइये मिलकर बढ़ती_बेरोज़गारी के कारणों पर एक नज़र डालें…

किसी बेरोज़गार से सवाल करो…

  1. मजदूरी करोगे…?
    • नहीं
  2. दुकान पर काम करोगे…?
    • नहीं
  3. बाइक / कार का काम जानते हो…?
    • नहीं
  4. बिजली मैकेनिक बनोगे…?
    • नहीं
  5. पेंटिंग का काम आता है…?
    • नहीं
  6. मिठाई बनाना जानते हो…?
    • नहीं
  7. प्राइवेट कंपनी में काम करोगे…?
    • नहीं
  8. मूर्तियां, मटके, हस्तशिल्प वगैरह कुछ बनाना आता है…?
    • नहीं
  9. तुम्हारे पिता की ज़मीन है…?
    • हाँ
  10. तो खेती करोगे ?
    • नहीं…!!!

ऐसे 10 – 20 प्रश्न और पूछ लो जैसे – सब्ज़ी बेचोगे ? फ़ेरी लगाओगे ? प्लम्बर, बढ़ई / तरखान, माली / बागवान, आदि का काम सीखोगे ??
– सब का जवाब ना में ही मिलेगा।

फिर पूछो…

  1. भैया किसी कला मे निपुण तो होगे…?
    • नहीं। पर मैं B. A. पास हूँ , M.A. पास हूँ I
      डिग्री है मेरे पास।
  2. बहुत अच्छी बात है पर कुछ काम जानते हो ? कुछ तो काम आता होगा, सैकड़ों की संख्या में काम है ?
    • नहीं, काम तो कुछ नहीं आता I😇

बताओ अब ऐसे युवा बेरोज़गार सिर्फ हमारे ही देश में क्यूँ है ?

क्योंकि हमारा युवा दिखावे की जिंदगी जीने का आदी हो गया है। यहां सबको कुर्सी वाली नौकरी चाहिए, जिसमें कोई काम भी ना करना पड़े। ऐसा युवा सच में देश के लिए अभिशाप ही है। जहां अपनी आजीविका के लिए भी काम करने से हिचकिचाता है।

शर्म आनी चाहिए खुद की कमजोरी को बेरोजगारी का नाम देते हुए।

हर साल लाखों बच्चे डिग्री लेके निकलते है, पर सच कहूँ तो सब के हाथ में काग़ज़ का टुकड़ा होता है… हुनर नहीं। जब तक आप खुद में कुछ हुनर पैदा करके उसको आजीविका अर्जन के प्रयोग मे नहीं लाते, तब तक ख़ुद को बेरोजगार कहने का हक़ किसी को भी नहीं है।

रही बात सरकारों की तो ये आती रहेंगी जाती रहेंगी, कोई भी सरकार 100% सरकारी रोज़गार नहीं दे सकती। तो मेरे प्यारे देशवासियों, समय रहते भ्रामक दुनिया से निकलने का प्रयत्न करो और अपनी काबिलीयत के अनुसार काम करना शुरू करो। अन्यथा जीवन बहुत मुश्किल भरा हो जाएगा।

जापान और चाइना जैसे देशों में छोटा सा बच्चा अपने खर्च के लिए कमाने लग जाता है और हमारे यहां 25-26 साल का युवा वर्ग केवल सरकारों की आलोचना करके समय की बर्बादी कर रहा है। कुछ नहीं होने वाला इनसे, कितने भी आंदोलन कर लीजिए किसी सरकार को कुछ फर्क़ नहीं पड़ने वाला। अंततः परिश्रम अपने आप को ही करना पड़ता है।

किस्मत रही तो आपको भी जरूर सरकारी नौकरी मिलेगी, लेकिन सिर्फ इसके भरोसे मत बैठो।

इस न्यूज़ और टीप्पणी से हमारा किसी एक पार्टी और दल या निजीकरण को बढ़ावा देना नहीं है । मगर हम युवा पीढ़ी को भी जरा समझना होगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

महमदपुर नरसंहार के खिलाफ श्री राजपूत करणी सेना ने हत्यारें का सिर कलम करने पर 5 करोड़ का रखा इनाम।

बिहार के सभी निजी और सरकारी स्कूल दिनांक 19 जून 2021 से 15 जून 2021 तक रहेंगे बंद । इस विषय के साथ वायरल...

सोशल मीडिया पर बिहार विद्यालय शिक्षा बोर्ड के द्वारा जारी किया गया एक लेटर बहुत ही तेजी से वायरल हो रहा है...

भोजपुरी अभिनेता खेसारी लाल यादव के ऊपर लखनऊ में हुआ केस दर्ज। फ़िल्म निर्माता के बेटे को धमकाने का है आरोप

भोजपुरी अभिनेता खेसारी लाल यादव ने फिल्म निर्माता के बेटे को धमकाया, लखनऊ में केस दर्ज-----------------------------------✍️गुड़ंबा कोतवाली में भोजपुरी फिल्म अभिनेता शत्रुघन...

सीतामढ़ी जिले के चोरौत प्रखंड की बेटी रिंकू कुमारी अब बिहार से कई सौ किलोमीटर दूर भारत के असम बॉर्डर पर रहकर करेगी...

चोरौट:- आप सभी को यह बताते हुए गर्व महसूस हो रहा है कि अभी कुछ ही दिन पहले एसएससी जीडी 2018 का...

Recent Comments