Home खेल हमको हारता या जीतता हुआ माही से ज्यादा इमैच्योर माही पसंद है...

हमको हारता या जीतता हुआ माही से ज्यादा इमैच्योर माही पसंद है और आपको ??

0
36

हमको हारता या जीतता हुआ माही से ज्यादा इमैच्योर माही पसंद है! वो माही जो अंपायर से लड़ने चला जाता है, वो माही जो छक्का मारकर जोर से बैट भांजता है, वो माही जिसके लिए एंपायर का डिसीजन मायने नहीं रखता है, वो माही जो अपने आप में एक संस्था है, वो माही जो जब क्रीज पर आता है तो लोग अपने आप को काबू नहीं कर पाते हैं। हमको बिल्कुल अफसोस इस बात का नहीं है कि तुम मैच हार गए। साला अफसोस तो इस बात का है कि कैमरामैन हर चौके, छक्के के बाद तुम्हारा चेहरा दिखा रहा था! अफसोस इस बात का है कि ये लौंडे आज लिखेंगे की माही ने दिल जीता या मैच? लेकिन छोड़ो ना, हमको इस बात से मतलब नहीं है कि माही का चेन्नई प्लेऑफ में जाएगा कि नहीं हां, इस बात की चिंता जरूर है कि मेरा माही हिम्मत नहीं हारना चाहिए, उसे ये नहीं लगना चाहिए कि मैच हार गए तो अब चेन्नई का क्या होगा!

जिन लड़कों के लिए माही को फील्ड पर देखना सपने जैसा है उनके लिए जीत और हार मायने नहीं रखता है। जिन दर्शकों के लिए माही का मैदान में चलकर आना एक ख्वाब जैसा है, उनके लिए चेन्नई का जीतना जरूरी नहीं है, उनके लिए जरूरी ये है कि महेंद्र सिंह धोनी बस अंत तक खेलता रहे। आज तुम अंत तक नहीं खेले! अरे दोस्त, इस बात की भी चिंता नहीं है कि तुम नही खेले, बस खुश रहो यार। तुम्हारा जीतना या हारना मायने नहीं रखता है, मायने ये भी नहीं रखता है कि तुमने कोशिश की या नहीं, क्योंकि भारत ही नहीं पूरा देश जानता है कि महेंद्र सिंह धोनी प्रोसेस में बिलीव करता है और हमको पता है कि तुम्हारा प्रोसेस कभी गलत होता ही नहीं है। सुनो ना, हार गए तो क्या हुआ, हम तुम्हारा इंतजार अगले मैच में करेंगे। अमन और अंकित खाने के लिए चिल्ला रहा होगा लेकिन हम बैठकर सिर्फ तुम्हारे खेलने का इंतजार करते रहेंगे। तुम हार भी रहे होगे तो आखिरी गेंद तक इस विश्वास से बैठे रहेंगे कि मेरा माही मुस्कुरा कर पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में आकर कहेगा कि यहां यहां गलती हो गई और अगली बार इसपर सुधार किया जाएगा।

जानते हो जी, तुमको काहे इतना मानते हैं? काहे की जितना छोटका का शहर का लड़का है ना, वो तुम्हारे चलते सपना देखना सीखा है। सरकारी नौकरी को लात मारकर अपने पैशन को चुनना विराट, रोहित और डिविलियर्स के बस की बात नहीं है। हम उन लोग को छोटा खिलाड़ी नहीं मानते हैं। हां, बस तुमको इस दुनिया का सबसे बड़ा खिलाड़ी मानते हैं। ई सब जो बच्चा लोग है, इन लोग को नहीं पता है कि तुम क्या हो! तुम्हारे जीतने से ज्यादा घमंड हमको तुम्हारे हारने पर होता है, काहे कि जब कैमरामैन किसी छक्का और चौका लगने के बाद कप्तान को दिखाता है ना तो झट से ये विश्वास हो जाता है कि कैमरामैन को भी नहीं लग रहा था कि धोनी हारेगा। कैमरामैन भी शायद यही सोच रहा था कि विश्व के सबसे बड़े कप्तान के द्वारा सिखाया हुआ गेंदबाज ऐसी गलती क्यों कर रहा है। हां, तुम्हारे मोहब्बत में हम इतने पागल हो गए हैं कि चेन्नई के जीत का सारा श्रेय हम तुमको देना चाहते हैं! हो सकता है कि किसी के क्रेडिट को मारकर हम तुमको दे दे लेकिन हमको मंजूर है, इसीलिए क्योंकि तुमने जो किया है वो कोई इंसान तो कभी कर ही नहीं सकता।

तुम मेरे शहंशाह थे और रहोगे। तुम्हारे हारने और जीतने से मन बदलने वाले में से हम नहीं है। आईपीएल तुम्हारा भविष्य नहीं तय करेगा। तुम्हारा भविष्य रात के 11 बजे, तुम्हे और तुम्हारा सफर देखकर तुम्हें चाहने वाला लड़का करेगा। तुम इस सब के बारे में मत सोचना, बस इतना याद रखना कि तुम्हारे हार और तुम्हारे जीत में कुछ लड़के और लड़कियां अपना भविष्य देखते हैं। तुम्हारे मुस्कुराहट में किसी को अपनी जिंदगी दिखती है, तुम्हारे दांत पीसने पर कोई उदास हो जाता है, तुम्हें उदास देखकर किसी के मन में खलबली मच जाती है, मुस्कुराते रहो! हार और जीत तुम्हारे फैन फॉलोइंग को कम करने की औकात नहीं रखते। जब तक जिंदा है तब तक तुम्हारे लिए लड़ते रहेंगे, घूम घूम कर कहेंगे और बताएंगे कि “एक था जो विकेट के पीछे से मैच को बदल देता था”

प्रशांत राय की कलम से

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here